... ब्रेकिंग पत्रवार्ता : "युध्दवीर के फेसबुक" पोस्ट से सामने आई दोषियों को बचाने की राजनीति,जूदेव ने कही बड़ी बात और मच गया बवाल....पढ़िए पूरी खबर सिर्फ पत्रवार्ता पर...?

आपके पास हो कोई खबर तो भेजें 9424187187 पर

ब्रेकिंग पत्रवार्ता : "युध्दवीर के फेसबुक" पोस्ट से सामने आई दोषियों को बचाने की राजनीति,जूदेव ने कही बड़ी बात और मच गया बवाल....पढ़िए पूरी खबर सिर्फ पत्रवार्ता पर...?

 


जशपुर,टीम पत्रवार्ता,02 जून 2021

जशपुर जिला चिकित्सालय में करोड़ों के फर्जी खरीदी का मामला अब हाईप्रोफाइल बन चुका है।स्वास्थ्य मंत्री के बयान के बाद जहां कलेक्टर ने जांच कमेटी बैठाकर जांच शुरु करा दी है वहीं जशपुर के कुछ स्थानीय सत्तादल के नेताओं ने अधिकारियों को बचाने की कवायद शुरु कर दी है।दरअसल इसमें कुछ कांग्रेसी नेताओं के भी शामिल होने की सुगबुगाहट है जिसे लेकर अब पक्ष विपक्ष आमने सामने वाली स्थिति में।नजर आ रहे हैं।

चंद्रपुर के पूर्व विधायक युध्दवीर सिंह जूदेव ने अपने फेसबुक पर एक पोस्ट कर फिर से इस मामले को हवा दे दी है।उन्होंने सीधा आरोप लगाते हुए जशपुर जिले के कांग्रेसी नेताओं पर अधिकारियों को बचाने का आरोप लगाया है।

देखिये युध्दवीर सिंह जूदेव का पोस्ट उनके फेसबुक वॉल से

"अब अस्थानीय जशपुर के चंदा मामा बाहर के डॉ का पक्ष ले के महज कुछ हजार में स्वास्थ्य मंत्री के पास जा रहे हैं भृष्ट डॉ को बचाने के लिए इनको ये मालूम नही कलेक्टर की कार्यवाही से मैं भी दुखी हूं क्योंकि मुझे इनका जेल और करोड़ों रुपये की रिकवरी चाहिए खानापूर्ति नही"

जशपुर स्वास्थ्य विभाग में हुए करोड़ों के  घोटाले को लेकर  श्री युद्धवीर सिंह जूदेव ने  कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

युद्धवीर सिंह जूदेव ने कहा है कि इस बड़े घोटाले और अनियमितता में कार्यवाही नहीं करके कांग्रेस ने जशपुर जिले की जनता के साथ  स्वास्थ्य से जुड़ी भावनाओं के साथ खिलवाड़ करने की अपनी मंशा स्पष्ट कर दी है।

जशपुर जैसी जगह में जहां अधोसंरचना स्टाफ की कोई कमी नहीं है वहां कोरोना से 200 से अधिक लोगों की मौत हो जाना इसी अनियमितता का परिणाम है। 

आज जब प्रदेश की राजधानी रायपुर में मरीजों की संख्या कम हो गई है वहीं जशपुर जैसी जगह में रायपुर से अधिक कोरोनावायरस मिल रहे हैं। इसका कारण यह है कि विशिष्ट पदों में बैठे अधिकारी को भ्रष्टाचार से फुर्सत नहीं मिली। 

युद्धवीर ने कहा कि मुझे जानकारी मिली है कि कई नेता भी इस में लिप्त हैं और इसी कारण जिम्मेदार पदाधिकारियों को हटाने में उन्हें परेशानी हो रही है। 

कांग्रेस की सरकार से जुड़े जशपुर के विधायकों की चुप्पी करोड़ों के भ्रष्टाचार का मौन समर्थन है जो अभी स्पष्ट हो गया है। लेकिन कांग्रेस के नेता और अधिकारी यह न भूलें की यह जशपुर की जनता है। 

युद्धवीर सिंह जूदेव ने यह भी कहा कि कुछ नेताओं के द्वारा समाचारों में यह बयान दिया गया कि पैसा अभी आहरण नहीं हुआ है तो फिर मामले को इतना तूल क्यों दिया जा रहा है। कुछ  नेताओं के द्वारा यह भी कहा गया कि जशपुर में एक ही हड्डी रोग विशेषज्ञ हैं। 

उन्होंने कहा कि मैं ऐसे नेताओं के मुंह नहीं लगता 

लेकिन कांग्रेस के नेताओं को इतना मालूम होना चाहिए कि जशपुर में तीन हड्डी रोग विशेषज्ञ हैं और एक के जाने के बाद अभी भी 2 विशेषज्ञ कार्यरत हैं। 

श्री जूदेव ने यह भी कहा कि अभी जांच हुआ ही नहीं लेकिन कांग्रेस नेताओं को पता चल गया कि अभी पैसा आहरण नहीं हुआ है। इतने अंदर तक की जानकारी कांग्रेस के नेताओं को है, इसका मतलब साफ है कि आहरण होने वाले पैसों पर इनकी गिद्ध नजर बनी हुई थी। 

उन्होंने कहा कि इस मामले में संबंधितओं को उनके वर्तमान पद से नहीं हटाया जाता है और उनके द्वारा की गई शिकायत के अनुरूप कार्रवाई नहीं की जाती है तो ना ही वे शांत बैठेंगे और ना ही जशपुर की जनता शांत बैठेगी। उन्होंने कहा कि जशपुर वासियों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ किसी भी स्तर पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।



Post a Comment

0 Comments