... नया खुलासा : जिला अस्पताल में करोड़ों की सामग्री खरीदी का मामला,जांच का 7 वां दिन आज,लगातार जाँच टीम खंगाल रही रिकार्ड,श्याम सर्जिकल को 1 करोड़ से अधिक का भुगतान,स्टोर स्टॉक,इंडेंट जांच टीम के पास फिर भी की जा रही ये कोशिश....जांच टीम कलेक्टर को सौंपेगी रिपोर्ट।

आपके पास हो कोई खबर तो भेजें 9424187187 पर

नया खुलासा : जिला अस्पताल में करोड़ों की सामग्री खरीदी का मामला,जांच का 7 वां दिन आज,लगातार जाँच टीम खंगाल रही रिकार्ड,श्याम सर्जिकल को 1 करोड़ से अधिक का भुगतान,स्टोर स्टॉक,इंडेंट जांच टीम के पास फिर भी की जा रही ये कोशिश....जांच टीम कलेक्टर को सौंपेगी रिपोर्ट।

 


जशपुर, टीम पत्रवार्ता,04 मई 2021

BY योगेश थवाईत

जिला अस्पताल जशपुर में हुए करोड़ों के कथित भ्रष्टाचार मामले में जिला प्रशासन ने जांच टीम का गठन किया था जिसके 7 दिन आज पूरे हो रहे हैं हांलाकि जाँच टीम में 2 सदस्य बढ़ने के बाद जाँच टीम को और तीन दिन का समय मिल गया है।जिला पंचायत सीईओ,एडिशनल कलेक्टर खुद जाँच टीम के साथ मामले की जांच में जुटे हुए हैं।मामले में काफी अनियमितता सामने आ रही है।वहीं सर्जिकल सामग्री समेत अन्य भुगतान को लेकर काफी सवाल खड़े हो रहे हैं।

मिली जानकारी के अनुसार जिला चिकित्सालय जशपुर के डीडीओ अधिकारी, व सिविल सर्जन द्वारा पिछले दो वर्षों में 5 करोड़ से अधिक की राशि का भुगतान विभिन्न फर्मों को किया गया है।लगभग 1 करोड़ 11 लाख का भुगतान सिर्फ श्याम सर्जिकल रायगढ़ को किया गया है।अब बड़ा सवाल यह है कि क्या जिला अस्पताल में इतनी बड़ी संख्या में आपरेशन के केस आए हैं और वाकई क्या इन सामग्रियों का उपयोग हुआ है ..?

वहीँ जाँच में और भी खुलासा होने की बात कही जा रही है।बीते दिनों कुछ सत्ता दल के नेताओं ने भुगतान नहीं हुआ तो फर्जीवाडा कैसा बयान दिया था जिसमें सांसद गोमती साय ने खुलासा किया है कि लगभग 5 करोड़ से अधिक की राशी का भुगतान पिछले 2 वर्षों में विभिन्न फर्म को किया गया है।वहीँ कोविड के नियमों का हवाला देकर बचाव की कोशिश भी की जा रही है जबकि उक्त खरीदी नॉन कोविड सामग्री की है।जिसमें कोविड के छुट का नियम लागू नहीं होता।

पुष्ट सूत्रों के अनुसार सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक जशपुर व डीडीओ अधिकारी के द्वारा वर्ष 2019-20 एवं 2020-21 के बिलों का भुगतान इन फर्मो व व्यक्तियों को किया गया है।

दिनांक 19.05.2021 को स्तुति फयूल्स , एम.एस.सिंह हार्डवेयर , बोब नेट जशपुर को राशि 99578.00 रूपये । 

दिनांक 01.03.2021 एवं 09.03.2021 को सुशील मिश्रा . मधुरिका मेटल , स्तुति फयूल्स , लावा फयूल , पवन टायर , रेडकास मेडिकल स्टोर्स , कुमुद टेक्सटाईल्स गम्हरिया , बोब नेट जशपुर , विजय स्टील इंडस्टीज , श्री श्याम सर्जिकल रायगढ़ , जायसवाल स्टील एण्ड स्पलायर , रायपुर सांइटिफिक रायपुर , न्यू साव इलेक्टानिकस को राशि 10405665.00 रूपये । 

दिनांक 03.02.2020 एवं 24.02.2020 को जिन्दल इंटरप्राइजेस , एम.एस.सिंह हार्डवेयर , सुनील डेकोरेशन , रेडकास मेडिकल स्टोर्स , रायपुर सांइटिफिक , श्री श्याम सर्जिकल , स्तुति फयूल्स को राशि 11676527.00 रूपये । 

दिनांक 03.03.2020 , 07.03.2020 एवं 26.03.2020 को रेडकास मेडिकल स्टोर्स , आशीष कुमार , सुनील डेकोरेशन , स्तुति फयूल्स , जिन्दल इंटरप्राइजेस , संजीवनी मेडिकल एजेंसी , कुमुद वस्त्रालय , माँ शारदा फोटो कोपर जशपुर , आई.टी.केयर , छत्तीसगढ़ सम्वाद , विजय स्टील इंडस्टीज , रायपुर साइटिफिक , महालक्ष्मी इंटरप्राइजेस . श्री श्याम सर्जिकल , पवन टायर को राशि 5007017.00 रूपये । 

दिनांक 16.12.2020 को मादुरिका मेटल , एम.एस. खादी ग्रामोद्योग विकास सिंह , सत्या इंटरप्राइजेस , विजय स्टील इंडस्टीज , गुप्ता वॉच एण्ड इलेक्टानिक , न्यू साव इलेक्टानिक , एम.एस.लावा फयूल , कामथेन सिक्यूरिटी सर्विस को राशि 2982814.00 रूपये । 

दिनांक 21.01.2020 , 29.01.2020 एवं 30.01.2020 को बोब नेट जशपुर , विजय कुमार कुसवाहा , अल्का इंटरप्राइजेस ,एम.एस.खादी ग्रामोद्योग विकास सिंह , महालक्ष्मी इंटरप्राइजेस , कामथेन सिक्यूरिटी सर्विस , सुनील डेकोरेशन , रायपुर सांइटिफिक , न्यू साव इलेक्टानिक , रेडकास मेडिकल स्टोर्स , स्तुति फयूल्स , अरिहंत मोटर्स , एम.एस सिंह , Beach Resort हार्डवेयर छत्तीसगढ़ खादी ग्रामोद्योग भंडार को राशि 8701905.00 रूपये ।

दिनांक 25.01.2021 को एम.एस.बबरा मोटर्स , एम.एस.सिंह हार्डवेयर , अरिहंत मोटर्स , रायपुर साइटिफिक , जिन्दल इंटरप्राइजेस , ग्लोबल हेल्थ केयर को राशि 2302157.00 रूपये । 

दिनांक 18.02.2021 को स्वास्तिक कम्प्यूटर एण्ड साईबर कैफे , माँ शारदा फोटो कोपर जशपुर , रायपुर साइटिफिक , श्री श्याम सर्जिकल , रिसभ आटोमोबाइल , रेडकास मेडिकल स्टोर्स , जैन मोटर्स , पवन टायर , अरिहंत मोटर , स्तुति फयूल्स को राशि 3457786.00 रूपये । 

दिनांक 14.01.2021 को व्ही.के.पाटनी , रायपुर सांइटिफिक , सत्या इंटरप्राइजेस को राशि 3819145,00 रूपये । 

दिनांक 24.12.2019 को विजय स्टील इंडस्टीज को राशि 499140.00 रूपये । 

दिनांक 03.02.2021 को स्तुति फयूल्स , एम.एस.लावा फयूल को राशि 258676.00 रूपये ।

दिनांक 07.12.2019 को बोब नेट जशपुर , सुशील मिश्रा , महालक्ष्मी इंटरप्राइजेस , स्तुति फयूल्स , एम.एस.सिंह हार्डवेयर , एम.एस.खादी ग्रामोद्योग विकास सिंह को राशि 830626.00 रूपये । 

दिनांक 15.11.2019 को बोब नेट जशपुर रायपुर सांइटिफिक ,रेडकास मेडिकल स्टोर्स , स्तुति फयूल्स को राशि 1009352.00 रूपये । 

सकल योग कुल राशि 5,10,50,388.00 ( पांच करोड़ दस लाख पचास हजार तीन सौ अठासी ) रूपये । 

सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक जशपुर के द्वारा बिना क्रय नियमों का पालन किये ,बिना टेंडर किये ,क्रय समिति के अनुमोदन के बिना ,तथा निविदा जारी किये बिना ही नियमों को ताक पर रखकर , छत्तीसगढ़ भण्डार कय नियम 2017 का उल्लघंन कर ,करोड़ों की सामग्री खरीदी का आरोप लगाते हुए युद्धवीर सिंह जूदेव समेत अन्य ने भी जाँच की मांग की है जिसमें अब जाँच टीम पुरे 2 वर्षों के रिकार्ड खंगालने में जुटी हुई है।

पूर्व मंत्री गणेश राम भगत ने दिया जवाब 

कांग्रेस नेताओ के द्वारा यह बयान देना की जिला चिकित्सालय के मामले में जब व्यापारी को भुगतान ही नही हुआ तो भ्रष्टाचार कहाँ हुआ। इस पर पूर्व मंत्री गणेश राम भगत ने कहा कि यह तो दुनिया का सबसे अजूबा मामला है अगर कांग्रेस के नेताओं के द्वारा जो बयान दिया जा रहा है। वह सही है तो कौन ऐसे व्यापारी है जो 2 सालों से लगातार जिला अस्पताल में माल सप्लाई तो कर रहे हैं। लेकिन कोई भुगतान नही ले रहे हैं अगर यह सही है तो ऐसे व्यापारी कोई सामान्य व्यक्ति नहीं है। बल्कि भामाशाह हैं और वे सम्मानन के लायक है। कांग्रेस के मित्र ऐसे व्यापारियों के नाम का खुलासा करें। हम उनका गाजे बाजे के साथ जशपुर बस स्टैंड में सम्मान करेंगे । कोरोना महामारी के इस विपरीत समय मे ऐसे दानवीर को राज्य सरकार के द्वारा कोरोना वारियर्स के रूप भी सम्मानित करना चाहिए ताकि देश के अन्य व्यापारी बन्धु भी इनसे प्रेरणा ले सकें ।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार नियमों के मुताबिक खरीदी को बनाने का प्रयास शुरू हो चूका है,यह भी खबर मिली है कि जिला अस्पताल के कई शाखा में पुराने इंडेंट मांगपत्र पर अनुमोदन लेने का प्रयास भी किया जा रहा है।हांलाकि जांच टीम पूरी गंभीरता से जाँच में लगी हुई है अब देखना होगा कि जाँच टीम कब दूध का दूध  और पानी का पानी करती है।  

बड़ा सवाल 

नीचे क्लिक करें 

"CS" को अब तक क्यों नहीं हटाया



Post a Comment

0 Comments