... नाराजगी : "ब्रिटिश कालीन रियासत" में "राजा देवशरण " के नाम पर स्थापित "चिकित्सालय" को यहाँ पदस्थ सिविल सर्जन व आरएमओ के कृत्य ने कर दिया "बदनाम","राजपरिवार के करीबी बीजेपी नेता" ने लगाया गंभीर आरोप और कही ये बात ......?

आपके पास हो कोई खबर तो भेजें 9424187187 पर

नाराजगी : "ब्रिटिश कालीन रियासत" में "राजा देवशरण " के नाम पर स्थापित "चिकित्सालय" को यहाँ पदस्थ सिविल सर्जन व आरएमओ के कृत्य ने कर दिया "बदनाम","राजपरिवार के करीबी बीजेपी नेता" ने लगाया गंभीर आरोप और कही ये बात ......?



जशपुर,टीम पत्रवार्ता,29 मई 2021

ब्रिटिश कालीन रियासत में स्थापित जशपुर का राजा देवशरण जिला चिकित्सालय अपने नाम के अनुसार गौरवशाली इतिहास  के प्रतीक के रुप में स्थापित किया गया था।जिसे यहाँ पदस्थ अधिकारी व कुछ कर्मचारियों के भ्रष्टाचार ने बदनाम करने का कार्य किया है।इसे बीजेपी और यहाँ की जनता कभी बर्दाश्त नहीं करेगी।उक्त वक्तव्य देते हुए जशपुर जनपद पंचायत के उपाध्यक्ष राजकपूर भगत ने देते हुए कहा कि जिला प्रशासन द्वारा जिला चिकित्सालय में हुए कथित भ्रष्टाचार के मामले में सही तरीके से निष्पक्ष जांच नहीं करती है तो वे शासन प्रशासन के खिलाफ धरने पर बैठेंगे।

उल्लेखनीय है कि जिला अस्पताल में पदस्थ सिविल सर्जन और आरएमओ निरंकुश हो चुके हैं।उन्होंने उच्चाधिकारियों को अपना मोहरा बनाकर जमकर भ्रष्टाचार किया है जिसमें कड़ी जाँच होनी चाहिए।जशपुर जिला जो अपने भोले भाले लोगों के लिए जाना जाता है और यहां की प्राकृतिक छटाएं सबका मन मोह लेती हैं वहां इतना बड़ा घोटाला जशपुर के इतिहास में कभी नहीं हुआ।उल्लेखनीय है कि पिछले दो वर्षों में जिला चिकित्सालय में बिना नियमों का पालन किये हुए करोड़ों की स्वास्थ्य सामग्री खरीदी गई है जिसमें करोड़ों के भ्रष्टाचार की बात सामने आई है।

किसी ने सोचा भी नही था कि भोले भाले आदिवासियों और जशपुर की जनता के स्वास्थ्य लाभ के लिए आए इस पैसे को भ्रष्ट अधिकारी अपनी जेबों में डाल रहे हैं।उन्होंने कांग्रेस की सरकार के बड़े नेताओं समेत उच्च पदों पर आसीन अधिकारीयों पर ऐसे भ्रष्ट लोगों को सह देने का आरोप लगाते हुए कहा कि कभी जिला प्रशाशन तो कभी स्वास्थ्य अमला घेरे में आ रहे हैं। 

बीजेपी इस पर चुप नहीं बैठेगी। अगर इस मामले की निष्पक्षता से जांच नही हुई तो हम बड़ा धरना करेंगे और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव के खिलाफ मोर्चा खोलेंगे। 

यह जशपुर के इतिहास में बहुत शर्मनाक घटना सामने आई है जब कोरोना काल में इन अधिकारियों ने ऐसी घटिया हरकत करने की कोशिश की गई है। 

यह जिला प्रशासन और कांग्रेस की सरकार की असफलता है और उन्हें जनता को जवाब देना होगा। बीजेपी हर बार जनता के लिए काम करती रही है और करती रहेगी और हम लोग बिल्कुल भी पीछे नही हटेंगे चाहे कांग्रेस का दबाव आये या पुलिस का।फिलहाल यहाँ पदस्थ सिविल सर्जन एफ खाखा और आरएमओ अनुरंजन टोप्पो को पद से हटाकर मामले में जाँच करना जिला प्रशासन के लिए अच्छा होगा जिससे मामले की निष्पक्ष जाँच हो सके।

Post a Comment

0 Comments