... ब्रेकिंग पत्रवार्ता : अवैध खाद की बिक्री व कालाबाजारी पर प्रशासन हुआ सख्त,व्यापारी का उर्वरक लायसेंस किया रद्द,सरकारी दर पर कृषकों को देना होगा रासायनिक खाद।

ब्रेकिंग पत्रवार्ता : अवैध खाद की बिक्री व कालाबाजारी पर प्रशासन हुआ सख्त,व्यापारी का उर्वरक लायसेंस किया रद्द,सरकारी दर पर कृषकों को देना होगा रासायनिक खाद।

 

पत्थलगांव,टीम पत्रवार्ता,19 अगस्त 2020

कार्यालय उपसंचालक कृषि विकास एवं किसान कल्याण तथा जैव प्रौद्योगिकी विभाग के द्वारा पत्थलगांव में खाद व्यापारी मेसर्स शुभम सेल्स पत्थलगांव प्रो.राहुल अग्रवाल का उर्वरक पंजीकरण लायसेंस का नवीनीकरण निरस्त कर दिया गया है।उर्वरक नियंत्रण आदेश 1985 के तहत उक्त व्यापारी पर उर्वरक के भंडारण विक्रय समेत परिवहन पर पुर्णतः प्रतिबंध लगा दिया गया है।

उल्लेखनीय है कि प्रशासनिक कमजोरी के कारण पूरे जिले में बड़े पैमाने पर रासायनिक खाद की कालाबाजारी जोरों पर है।पत्थलगांव,बगीचा,कांसाबेल,कोतबा,कुनकुरी जशपुर समेत आसपास के इलाकों में बड़े पैमाने पर व्यापारियों के गोदाम रासायनिक खाद से भरे पड़े हैं।जो मनमाने बढ़े हुए दाम पर खाद बेच रहे हैं।वहीं कृषि विभाग महज औपचारिकता निभाकर मामले में कार्यवाही करता दिखता है।

दरअसल बड़े पैमाने पर खाद की कालाबाजारी की जा रही है जिसमें कृषि विभाग के अधिकारी व कर्मचारियों की मिलीभगत से इनकार नहीं किया जा सकता।

फिलहाल जिले में इस कार्यवाही से व्यापारियों में हड़कंप मचा हुआ है।वहीं किसानों को सरकारी दर पर खाद का इंतजार है।अब देखना होगा कि खाद की कालाबाजारी पर प्रशासनिक उदासीनता कब एक्शन मोड में आती है।

Post a comment

0 Comments