DAV EVENT :- रिमझिम बारिश के बीच IAS डॉ रवि मित्तल पंहुचे डीएवी,किया ध्वजारोहण,गणतंत्र दिवस पर बच्चों ने दिखाई अपनी प्रतिभा,मनमोहक सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति।

मानवीय मूल्यों पर आधारित शिक्षा डीएवी का लक्ष्य- एसएन पाण्डेय


बगीचा(पत्रवार्ता)रिमझिम बारिश ने गणतंत्र के पर्व को कहीं फीका कर दिया तो कहीं दोगुने उत्साह के साथ लोग सांस्कृतिक कार्यक्रमों में सराबोर रहे। डीएवी मुख्यमंत्री पब्लिक स्कूल बगीचा में धूमधाम से गणतंत्र दिवस का पर्व मनाया गया।इस अवसर पर मुख्य अतिथि एसडीएम डॉ रवि मित्तल IAS ने ध्वजारोहण कर परेड की सलामी ली।

ध्वजारोहण में नगर पंचायत के उपाध्यक्ष प्रमोद गुप्ता,सुभाष अग्रवाल व विद्यालय के प्राचार्य एसएन पांडेय ने सहयोग किया।विद्यालय के प्राचार्य ने मुख्य अतिथि को पुष्पगुच्छ भेंट कर उनका स्वागत किया।


मुख्य अतिथि ने अपने संबोधन में कहा कि राष्ट्रधर्म सर्वोपरि है।अपने दायित्व का निर्वहन करना हर एक नागरिक का परम कर्त्तव्य है।हमें हमेशा देश के प्रति संविधान की रक्षा करते हुए कर्त्तव्यनिष्ठ होना चाहिए। विद्यालय के प्राचार्य एसएन पांडेय ने अपने स्वागत उद्बोधन में कहा कि गणतंत्र के इस पावन बेला में हमें यह शपथ लेने कि आवश्यकता है कि हम मानवीय मूल्यों की रक्षा करते हुए अपने देश के भविष्य को संवारने और दुलारने में अपनी ताकत झोंक दें। जिससे भारत का भविष्य सुगढ़ हो सके।


नगर पंचायत उपाध्यक्ष प्रमोद गुप्ता ने अपने अभिभाषण में बताया कि विद्यार्थियों को अनुशासन के साथ संस्कारपरक शिक्षा ग्रहण करनी चाहिए।जिससे वह राष्ट्र को नवीन आयाम दे सकें।युवा वक्ता योगेश थवाईत ने बच्चों की हौसला अफजाई करते हुए कहा कि डीएवी संस्थान का मुख्य उद्देश्य मूल्यपरक शिक्षा देना है और यह हैम सबका सौभाग्य है कि इस सुदूर वनांचल में डीएवी अपनी सेवाएं दे रही है।


इस अवसर पर अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए जिसकी लोगों ने खूब प्रशंसा की। बच्चों के द्वारा देशभक्ति गीत,नृत्य के साथ बेटी बचाओ व कुपोषण पर विशेष प्रस्तुति दी गई जिसे दर्शकों ने खूब सराहा।


विद्यालय के संगीत शिक्षक नागेन्द्र साय ने अपने देशभक्ति गीत से सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया।मंच का संचालन हिन्दी शिक्षक मुरली चौहान ने किया।छात्रा सिमरन सिन्हा और प्रज्ञा पाण्डेय ने अपने अभिभाषण से गणतंत्र की महत्ता पर बल देते हुए संवैधानिक तथ्यों को लोगों के सामने यथेष्ट रूप से रखने का प्रयास किया। सुश्री तारा कंसारी ने धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में सभी शिक्षकों,बच्चों व अभिभावकों का महत्वपूर्ण योगदान रहा।शांतिपाठ के साथ कार्यक्रम की समाप्ति की गई।

Comments

Popular Posts

"जशपुरिया मॉडल दिल्ली में हुई हिट",मॉडल "रेने" का वह गाँव जहाँ से शुरू हुई संघर्ष की कहानी,पत्रवार्ता की टीम पंहुची रेने के घर

BREAKING(पत्रवार्ता)शासकीय महिला कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर,छग में भी लागू होगा चाइल्ड केयर लीव,हाईकोर्ट ने दिया आदेश..

बड़ी खबर : जब उड़नदस्ता टीम ने छात्राओं के उतरवाए कपड़े...? ..और फांसी के फंदे पर झूल गई 10 वीं की छात्रा।