... दिव्यात्मा की यात्रा अमरत्व की ओर। हर किसी ने नम आंखों से दी विदाई।कैंडल मार्च व श्रद्धांजलि सभा का आयोजन।

Recents in Beach


दिव्यात्मा की यात्रा अमरत्व की ओर। हर किसी ने नम आंखों से दी विदाई।कैंडल मार्च व श्रद्धांजलि सभा का आयोजन।



जशपुर(पत्रवार्ता.कॉम) दिव्यता की प्रतिमूर्ति दृढ़ता के संवाहक जिनकी अमरत्व की यात्रा में आज हर कोई शामिल हुआ।



स्थूल जगत में क्रांतिकारी तेवर के साथ बड़े परिवर्तन का शंखनाद करने वाले दिव्य पुरुष श्री अटल बिहारी वाजपेयी के अमरत्व पर आज हर कोई दुःखी है।


इस स्थूल जगत की सभी जिम्मेदारियों के बाद अब सूक्ष्म जगत में हो रहे व्यापक परिवर्तन में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए "अटल"अपनी सूक्ष्म की यात्रा पर निकल पड़े हैं।


अटल की वाणी आने वाला समय क्रांतिकारी होगा जिसकी रुपरेखा सूक्ष्म जगत में पहले ही बन चुकी है।हे अटल!तुमने देश को दिशा दी अब भी पूरे देश को एक सूत्र में पिरोकर तुम चले गए।कितनी गहरी तुम्हारी सोच है न कोई थाह है।हे युग निर्माता हम ऋणी हैं तुम्हारे।

"तुम्हीं हो प्राण हम सबके,हमारी चेतना हो तुम"

आज इस युगपुरुष को हर कोई श्रद्धांजलि अर्पित करने को आतुर था।जिले में कई स्थानों पर नगर व प्रतिष्ठान बंद रखे गए ,व श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया।

जिले के बगीचा में सभी दुकानें स्वस्फूर्त बंद रहीं।वहीं अटल के अमरत्व के बाद स्थानीय हाई स्कूल चौक से नागरिकों,डीएव्ही स्कूल के बच्चों समेत शिक्षकों के साथ कैंडल मार्च निकाला गया जो स्थानीय बस स्टैंड में श्रद्धांजलि सभा के रुप मे तब्दील हो गया।यहां हर किसी ने अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की और उनके कविताओं,संस्मरणों से उन्हें याद करते हुए पुष्पांजलि अर्पित कर भावभीनी विदाई दी गई।

वहीँ कांसाबेल में स्थानीय युवाओं व ग्रामवासियों के द्वारा श्री अटल को कैंडल जलाकर श्रद्धांजलि अर्पित की गई।इस अवसर पर स्थानीय लोगों ने उनके कांसाबेल प्रवास को याद करते हुए उन्हें सफल आदर्श व्यक्तित्व का परिचायक बताया।

"काल के कपाल में लिखता हूं, मिटाता हुँ,
गीत नया गाता हुँ
हार नहीं मानुगा रार नहीं ठानूँगा
अटल थे..अटल हैं.. अटल.रहेंगे..

आज केंद्रीय मंत्री विष्णुदेव से के गृहग्राम बगिया में महान व्यक्तित्व के धनी महान कवि युग पुरूष माटी पुत्र पूर्व प्रधानमंत्री माननीय अटल बिहारी वाजपेयी को नम आंखों से भाव भीनी आँखों से दिप जला कर श्रद्धा सुमन अर्पित की गई जिसमें श्रीमती कौशल्या विश्नुदेव साय,बगिया सरपंच माननीय ओमप्रकाश साय,अनिल तिवारी, रवि यादव, गेंदलाल साय एवं समस्त ग्रामवासी उपथित हुए।



Post a Comment

0 Comments