... CM ने जीता विश्वास : जशपुर के टाँगरगांव में नहीं लगेग कुदरगढ़ी स्टील प्लांट,गांव की महिलाओं ने मुख्यमंत्री भेंटवार्ता में सीएम से की स्टील उद्योग के निरस्तीकरण की मांग,लंबे समय से जिले में हो रहा औद्योगिक विस्तार का विरोध....

आपके पास हो कोई खबर तो भेजें 9424187187 पर

CM ने जीता विश्वास : जशपुर के टाँगरगांव में नहीं लगेग कुदरगढ़ी स्टील प्लांट,गांव की महिलाओं ने मुख्यमंत्री भेंटवार्ता में सीएम से की स्टील उद्योग के निरस्तीकरण की मांग,लंबे समय से जिले में हो रहा औद्योगिक विस्तार का विरोध....

 


जशपुर,टीम पत्रवार्ता,12 जून 2022

BY योगेश थवाईत

जशपुर जिले के कांसाबेल टाँगरगांव में प्रस्तावित मां कुदरगढ़ी स्टील प्लांट के लगातार विरोध के बाद सीएम भूपेश बघेल ने साफ शब्दों में कहा है कि ग्राम सभा में प्रस्ताव पारित नहीं होगा तो स्टील प्लांट नहीं लगेगा। 

पत्थलगांव विधानसभा क्षेत्र में आयोजित भेंट-मुलाकात में ग्रामीण महिला ने स्टील प्लांट नहीं लगाने की मांग की थी। जब भेंट-मुलाकात कार्यक्रम में ग्रामीणों से चर्चा कर रहे थे, तभी ग्रामीण महिला बुधमती बाई चौहान ने मुख्यमंत्री को बताया कि क्षेत्र में स्टील प्लांट लगना प्रस्तावित है,जिससे उनकी जमीन छीन जाएंगी वहां प्रदूषण होगा इसके साथ ही उनके संस्कृति का हनन होगा इसलिए उन्हें अपने क्षेत्र में स्टील प्लांट नहीं चाहिए। 

इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि, अगर स्टील प्लांट को लेकर प्रस्ताव ग्राम सभा में पारित नहीं होगा तो प्लांट नहीं लगेगा।सीएम के इस घोषणा के बाद ग्रामीणों ने ताली बजाकर अपनी खुशी का इजहार किया

इसके साथ ही आय के अन्य तरीकों का उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री श्री बघेल ने युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य में 14 हजार से अधिक शिक्षकों की भर्ती तीन साल के भीतर हुई है। वहीं अन्य विभागों में भी बड़ी संख्या में लगातार नौकरियां दी जा रही हैं। किसानों की आय को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि बीते साढ़े तीन साल में छत्तीसगढ़ सरकार ने अनेक अभिनव योजनाएं शुरू की हैं, जिससे राज्य में कृषि की ओर रुझान बढ़ा है और इससे कृषि का रकबा बढ़ने के साथ किसानों की संख्या में भी वृद्धि हुई है।

इसके अलावा छत्तीसगढ़ में 65 प्रकार के वनोपज की समर्थन मूल्य पर खरीदी, गोबर खरीदी जैसे अभिनव पहल के बाद गौठानों को रुरल इंडस्ट्रियल पार्क के रूप में विकसित किया जा रहा है, जहां अनेक तरह के आजीविकामूलक गतिविधियों का संचालन हो रहा है। 

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़वासियों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार लगातार कवायद कर रही है। कोरोना काल में जब पूरे देश में आर्थिक गतिविधियां ठप पड़ गई थीं, लोगों को काम नहीं मिल रहा था, तब छत्तीसगढ़ में मनरेगा के काम अनवरत रूप से जारी रहा, जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में बड़ी संख्या में लोगों को काम मिला। राज्य खनिज संसाधनों से समृद्ध है, ऐसे में छत्तीसगढ़ में रोजगार की अनेक संभावनाएं हैं। यदि उद्योग लगेंगे तो लोगों को रोजगार मिलेगा। आज छत्तीसगढ़ में सबसे कम बेरोजगारी दर है।

Post a Comment

0 Comments